नॉएडा/ ग्रेटर नॉएडा

राज्यों की सहमति मिलने पर 21 सितंबर से खोले जा सकते हैं स्कूल, मास्क् व सैनिटाइजर जरूरी

दिल्र्ली, संवाददाता

मार्च से ही बंद पड़े स्कूलों को खोलने को लेकर अनलॉक-4 में भी कुछ सहूलियत मिलने की उम्मीद है।केंद्रीय विद्यालय संगठन के मुताबिक अगर राज्यों की सहमति मिलती है तो 21 सितंबर से सभी विद्यालयों को खोला जा सकता है। इसके लिए राज्य और केंद्र शासित प्रदेश स्कूलों में 50 फीसद टीचिंग स्टाफ को स्कूल आने की अनुमति दे सकते हैं। इस दौरान कक्षा नौ से 12 वीं तक के छात्र भी अभिभावक की सहमति के बाद शिक्षकों से मार्गदर्शन लेने स्कूल जा सकेंगे। वैसे तो स्कूलों, कोचिंग सहित दूसरे सभी शैक्षणिक संस्थानों को 30 सितंबर तक बंद रखा गया है। दिल्ली सरकार ने अपने स्कूलों को पांच अक्टूबर तक बंद रखने का घोषणा की है। वहीं, बच्चों को स्कूल भेजने से पहले अभिभावकों की सहमति जरूरी होगी। फिलहाल केंद्रीय शिक्षा मंत्रालय के अधीन काम करने वाले केंद्रीय विद्यालय संगठन से जुड़े स्कूलों ने इसे लेकर प्लान जारी किया है। इसके लिए अभिभावकों से सहमति मांगी गई है। केंद्रीय विद्यालयों की ओर से अभिभावकों को स्कूलों के खोलने का पूरा प्लान भेजा गया है। ऐसे में स्वेच्छा से अभिभावक अपने बच्चों को स्कूल भेज सकेंगे। बच्चों को स्कूल से लाने और ले जाने की पूरी जिम्मेदारी अभिभावकों की खुद होगी।
दिनों के हिसाब से आना होगा स्कूल
बच्चों को भेजे गए प्लान के मुताबिक 11वीं और 12वीं के बच्चों को सिर्फ सोमवार और मंगलवार आना है। जबकि दसवीं के बच्चों को बुधवार और गुरूवार और नौवीं के बच्चों को शुक्रवार और शनिवार को आना होगा। वहीं, बच्चों को लंच और पानी की बोतल के साथ मास्क और सैनिटाइजर भी अनिवार्य रूप से लाना होगा। फिलहाल केंद्रीय विद्यालयों से जुड़े शिक्षकों का कहना है कि किसी भी बच्चे पर स्कूल आने का कोई दबाव नहीं होगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!
Close